social science vvi subjective question 2021

Uncategorized

अर्थशास्त्र vvi subjective question for class 10th

  1. साख का क्या अर्थ है ?

उत्तर – साख का अर्थ है विश्वास या भरोसा | साख की मात्रा विश्वास या भरोसा पर निर्भर करती है | इसी विश्वास या साख के आधार पर व्यक्ति के ऋण लेने देने की मात्रा निर्भर करती है | साख के दो पक्ष होते है | ऋणदाता तथा ऋणी | किसी दिए गए समय में ऋणी रुपये सेवा या किसी वस्तु को अपनी साख के आधार पर प्राप्त करता है , निर्धारित समय के बाद उतना ही मुद्रा ब्याज सहित लौटाने का वादा करता है |

  1. मिश्रित अर्थव्यवस्था क्या है ?

उत्तर – मिश्रित अर्थव्यवस्था समाजवादी तथा पूंजीवादी अर्थव्यवस्था का मध्यमार्गी प्रवृति है | इस अर्थव्यवस्था का उदेश्य सूक्ष्म लाभ कमाना उपभोगता का जन्म देना या बनाना , आर्थिक समृधि एवं समानता लाना आदि है | भारत मिश्रित अर्थव्यवस्था का उदहारण है |

  1. प्रतिव्यक्ति आय क्या है ?

उत्तर – प्रतिव्यक्ति आय का अर्थ राष्ट्र में मौजूद कुल व्यक्तियों की अलग – अलग बराबर आय है | चाहे वह मानशिक और शारीरिक श्रम करता हो या नही करता हो | यही कारन है की प्रतिव्यक्ति आय को बेरोजगारी बढती हुई जनसँख्या आदि बुरे ढंग से प्रभावित करती है और निचले स्तर की ओर ले जाती है | प्रति व्यक्ति आय  की गणना के लिए राष्ट्रिय आय में देश की कुल जनसँख्या से भाग देना होता है | यह किसी देश के नागरिको की औसत आय है |

  1. ए० टी० एम० क्या है ?

उत्तर – प्लास्टिक मुद्रा के प्रचलन तथा कंप्यूटर के अविष्कार ने ए० टी० एम० को जन्म दिया ए० टी० एम० यानि automatic teller machine के उपयोग के लिए ए टी एम कार्ड दिया जाता है जो ए टी एम सह डेविट कार्ड के रूप में भी जाना जाता है | इस प्रणाली के द्वारा चौबीस घंटे पैसा जमा तथा निकासी करने की सुविधा ग्राहकों को प्राप्त है ए० टी० एम० संचालक को एक गुप्त कोड दिया जाता है जिसका प्रयोग करके ए० टी० एम० का संचालन संभव है |

  1. उपभोगता के कर्तव्यों के बारे में लिखे ?

उत्तर – उपभोगता का कर्तव्य है की वह जब कोई वस्तु खरीद रहा हो तो उस वस्तु की किस्म , क्वालिटी शुद्धता और गुन्न्वता की जानकारी ले ले | उसे यह भी ध्यान रखना है की दुकानदार नाप तौल में बेईमानी न करे | यह पौकेट बंद वस्तु है तो उसकी निर्माण तिथि एक्स्पैरी तिथि तथा उसपर अंकित मूल्य जो लिखा है , उसे देख ले | मूल्य अधिकतर रहता है | अत: उसमे कुछ छुट भी मिल सकती है | उपभोगता खरीदी वस्तु की रशीद अवश्य ले ले |

  1. उपभोगता के कौन – कौन से अधिकार है ?

उत्तर – उपभोगता के प्रमुख अधिकार निम्न्लिखित है :-

  1. सुरक्षा का अधिकार
  2. सुचना पाने का अधिकार
  • चुनाव या पसंद करने का अधिकार
  1. सुनाई का अधिकार
  2. सिकायत निवारण या क्षति पूर्ति का अधिकार
  3. उपभोगता की शिक्षा का अधिकार
  4. भारत में वैश्वीकरण के पक्ष में तर्क दे ?

उत्तर- भारत में वैश्वीकरण के पक्ष में निम्न्लिखित तर्क दिए जा सकते है :-

  1. प्रत्यक्ष विदेशी निवेश का प्रोत्साहन
  2. प्रतियोगी शक्ति में वृद्धि
  • नई प्रोधोगिकी की प्राप्ति
  1. अच्छा उपभोगता वस्तुओ की प्राप्ति
  2. नए बाजार तक पहुँच
  3. उत्पादन तथा उत्पादित वास्तु के स्तर को उन्नत करना
  4. अर्थव्यवस्था के विभिन्न प्रकारों का संक्षेप में वर्णन करे ?

उत्तर – अर्थव्यवस्था दो आधार पर वर्गीकृत की जाती है :

  1. विकाश के आधार पर – विकाश के आधार पर अर्थव्यवस्था दो प्रकार के होती है विकशित अर्थव्यवस्था तथा विकाशशील अर्थव्यवस्था
  2. स्वामित्व के आधार पर – स्वामित्व के आधार पर अर्थव्यवस्था तीन प्रकार के होते है (a) पूंजीवादी अर्थव्यवस्था (b) समाजवादी अर्थव्यवस्था (C) मिश्रित अर्थव्यवस्था
  3. सहकारिता से आप क्या समझते है ?

उत्तर – सहकारिता का अर्थ है मिलजुल कर कार्य करना जब ऐसे कार्यो का उदेश्य आर्थिक हो जाता है तो यह अर्थ शास्त्र की सहकारिता है | अर्थ की एक संगठन इसके अंतर्गत दो या दो से अधिक व्यक्ति मिलजुल कर स्वेक्षा पूर्वक आर्थिक उदेश्यों की पूर्ति हेतु कार्य करते है ,सहकारिता कहलाती हैं |

  1. बहुराष्ट्रीय कम्पनी किसे कहते है ?

उत्तर – बहुराष्ट्रीय कम्पनी की श्रेणी में वैसी कम्पनिया आती है जिनका फैलाव एक से अधिक देशो में है | वे अपनी विस्तार इकाइयों की नियंत्रण एवं स्वामित्व रखती है | चाहे उनकी इकाइया किसी भी देश में क्यों न हो ये विश्व स्तर पर वस्तु और सेवा का उत्पादन करती है तथा विभिन्न उत्पादों को जोडती है |

  1. आपदा किसे कहते है ये कितने प्रकार के होते है ?

उत्तर – प्राकृतिक में घटित होने वाले वैसी प्राकृतिक या मानवकृत घटना जिसके फलस्वरूप जान-माल की अपार क्षति होती है कई लोग बेघर हो जाते है तथा कई लोग काल के गाल में समा जाते है उसे आपदा कहते है जैसे – भूकंप , बाढ़ , सुनामी ज्वालामुखी विस्पोट , आतंकवाद , महामारी इत्यादि

            आपदा दो प्रकार के होते है :-

  1. प्राकृतिक आपदा
  2. मानवकृत आपदा

प्राकृतिक आपदा – वैसी आपदा जो प्राकृतिक कारणों से घटित होती है उसे प्राकृतिक आपदा कहते है जैसे- भूकंप , बाढ़ , सुनामी इत्यादि

मानवकृत आपदा – वैसी आपका जो मानवीय कारणों से घटित होती है उसे मानवीय आपदा कहते है जैसे – आतंकवाद , रेल दुर्घटना , सड़क दुर्घटना इत्यादि

  1. बाढ़ के दुष्परिणामो को लिखे ?

उत्तर – बाढ़ एक प्राकृतिक आपदा है | यह विनाशकारी होता है | इसके प्रमुख दुष्परिणाम निम्न्लिखित है :-

  1. जनधन की हानि होती है
  2. पालतू पशु भी मर जाते है

iii. फसले भी बर्बाद हो जाती है

  1. बड़े-बड़े मकान क्षति ग्रस्त हो जाते है
  2. परिवहन के साधन जैसे रेल मार्ग सड़क मार्ग पुल आदि टूट जाते है
  3. संचार व्यवस्था ध्वस्त हो जाती है

vii. बाढ़ के समाप्त होते ही महामारी फ़ैल जाती है

  1. आपदा प्रबंधन की आवश्यकता क्यों होती है ?

उत्तर – आपदा कोई भी उसका उसका प्रबंधन अनिवार्य है | आपदा में न केवल सिर्फ विकाश कार्य अवरुद्ध होते है बल्कि विकाश के कार्यो में कई प्रकार के व्यवधान  भी उत्पन्न होते है | यदपि राष्टीय स्तर तथा राज्य मुख्यालय स्तर पर प्रबंधन की व्यवस्था की गई है | जैसे सुखाड़ प्रबंधन हेतु आम लोगो के सहयोग से सामूहिक प्रयास से ही कुए की खुदाई हो सकती है | भूकंप प्रबंधन हेतु नए तकनीक आधारित भवन निर्माण किया गया है |

  1. सुनामी से आप क्या समझते है ?

उत्तर- पृथ्वी के आंतरिक प्रतिक्रियाओ के चलते जब समुद्री तल की जमीं कांपने लगती है तो उसका प्रभाव समुद्री जल में लहरों को काफी ऊपर उठते हुए देखा जाता है | इसी को सुनामी कहा जाता है सुनामी में सैकड़ो मीटर की ऊंचाई तक समुद्री लहरे उठती है और तटीय क्षेत्र के भवनों के साथ सब कुछ  बहा ले जाता है |

 

  1. मकान के निर्माण में भूकंप के प्रभावों को कम करने वाले चार उपायों को लिखे ?

उत्तर – . मकान के निर्माण में भूकंप के प्रभावों को कम करने वाले चार उपाय निम्नलिखित है :-

  1. भवनों को आयताकार होना चाहिए
  2. नींव को मजबूत तथा भुकम्प – अवरोधी होना चाहिए

iii. दरवाजे तथा खिड़की की स्थिति भूकंप अवरोधी होना चाहिए

  1. गलियों एवं सडको को चौड़ा होना चाहिए
  2. जहा तक हो सके T L U तथा X आकार का भवन बनवाना चाहिए
  3. भूकंप से बचने के उपाए बतावें ?

उत्तर – भूकंप से बचने के प्रमुख उपाय निम्न्लिखित है :-

  1. भूकंप के समय घर से बाहर खुले मैदन में भाग जाना चाहिए
  2. भूकंप के समय बिजली का तार काट देना चाहिय

iii. भूकंप के पूर्वानुमान का पता लगाने के लिए यंत्र का अविष्कार करना चाहिए

  1. भूकंप प्रभावित क्षेत्रो में भवनों की स्थिति भूकंप अवरोधी होनी चाहिए
  2. सामान्य संचार व्यवस्था के बाधित होने के कारणों को लिखे ?

उत्तर – सामान्य संचार व्यवस्था के बाधित होने के प्रमुख कारण निम्न्लिखित है :-

  1. केबलो का टूट जाना
  2. बिजली आपूर्ति का बाधित होना
  • संचार भवनों के ध्वस्त होने पर संचार यंत्रो का क्षति ग्रस्त होना
  1. ट्रांसमीशन टावर का क्षतिग्रस्त होना
  2. आग लगने की स्थिति में क्या प्रबंधन करना चाहिए

उत्तर – आग लगने की स्थिति में निम्न्लिखित प्रबंधन करना चाहिए

  1. आग में फसे लोगो को बहार निकालना चाहिए
  2. घायलों को तत्काल प्राथमिक उपचार देकर उसे तुरंत स्प्ताल में पहुचना चाहिए
  • आग के फैलाव को रोकना चाहिए
  1. अग्निशामक यंत्र को बुलाना चाहिए
  2. यदि आग का कारण विधुत शर्ट शर्किट है तो तुरंत बिजली का तार काट देना चाहिए
  3. भुसख्लन क्या है इसके कितने रूप होते है ?

उत्तर – भुसख्लन का अर्थ – जमीं का धसना , उसमे दरारे पड़ना , उसमे गढढे हो जाना होता है भुसख्लन प्राय: पहाड़ी क्षेत्रो में हुआ करता है |

भुसख्लन के मुख्यत: चार प्रकार होते है :-

i. कंकड़ पत्थरों का खिसखना

ii. वर्षा जल के साथ मिटटी तथा कंकड़ पत्थर का ऊपर से निचे की तरफ आना

  • पत्थर तथा उसके छोटे टुकडो का गिरना
  • चट्टानों का गिरना जिसके फलस्वरूप व्यापक जानमाल की क्षति होती है
  1. बाढ़ से बचने के उपाए बतावें ?

उत्तर – बाढ़ से बचने के उपाए निम्न्लिखित है

  1. नदियों को आपस में जोड़ना चाहिए
  2. तटबंधो पर वृक्षारोपण करना चाहिए
  • नदियों के आसपास मैन्ग्रो वनस्पति लगाना चाहिए
  1. वर्षा जल का संग्रह करना चाहिए
  2. तटबंधो का निर्माण करते रहना चाहिए

Class 10th भूगोल  vvi subjective question 2020

  1. संसाधन क्या है ?

उत्तर – समस्त जैविक प्रदत जैव एवं अजीव पदार्थ जो मानवीय आवश्यकताओ की पूर्ति में सहायक होते है उसे संसाधन कहते है | जैसे मिटटी ,खनिज, वन,एवं वन्य जिव

संभावी एवं संचित कोष संसाधन में अंतर स्पष्ट करे ?

उत्तर – वैसे संसाधन जो किसी विशेष क्षेत्र में मौजूद होते है जिसे उपयोग में लेन की सम्भावना रहती है उसे संभावी संसाधन कहते है | जबकि वैसे संसाधन जिनका भण्डारण संसाधन का ही अंश है जिसे उपलब्ध तकनिकी के आधार पर उपयोग में लाया जाता है उसे संचित कोष संसाधन कहते है जैसे जल का उपयोग विधुत उर्जा में किया जाता है |

संसाधनों के संरक्षण के उपाए बतावे ?

उत्तर – संसाधनों की सभ्यता एवं संस्कृति के विकाश में अहम् भूमिका होती है | अतः इनका संरक्षण आवश्यक है इनके लिए निम्न्लिखित बिन्दुओ पर ध्यान देना चाहिए :-

i.  संसाधनों को विवेकपूर्ण ढंग से उपयोग किया जाना चाहिए

ii. संसाधनों के दुर्योपयोग पर रोक लगाना चाहिए

iii. सिमित भंडार वाले संसाधनो का विकल्प ढूँढना चाहिए

  1. संसाधनों के निर्माण में तकनीक की क्या भूमिका है ?

उत्तर – संसाधनों के निर्माण में तकनीक की भूमिका काफी महत्त्व पूर्ण है | किंतु पृथ्वी के भूगर्व में स्थित कोयला, पेट्रोलियम, और खनिज बेकार पड़े हुए है किंतु तकनिकी ज्ञान के द्वारा हम उपयोग के लायक बनाये इसी प्रकार तकनिकी ज्ञान के द्वारा जल विधुत उर्जा और हवा से पवन उर्जा तथा सौर उर्जा का विकाश किया गया |

  1. सतत विकाश की अवधारणा क्या है ?

उत्तर – सतत विकाश की अवधारणा वह रणनीति है जिसके अंतर्गत प्राकृतिक संसाधनों एवं पर्यावरण को क्षति पहुचये बिना वर्तमान अवभावी दोनों पीढियों का कल्याण को अधिकतम बनाया जा सकता है | अर्थात अर्थव्यवस्था का विकाश सुचारू रूप से चलता रहे |

  1. स्वामित्व के आधार पर संसाधन कितने प्रकार के होते है ?

उत्तर – . स्वामित्व के आधार पर संसाधन चार प्रकार के होते है :-

i. व्यक्तिगत संसाधन :– इसके तहद माकन जमीं तथा तलाब आदि आते है

ii. सामुदायिक . संसाधन – इसके तहद सामुदायिक भवन, पार्क, पिकनिक हौल खेल का मैदान आदि आते

iii. राष्ट्रीय संसाधन – इसके अंतर्गत नदी, वन, वन्य जिव तथा खनिज आते है

iv. अंतराष्ट्रीय संसाधन – इसके अंतर्गत महासागर आते है

जलोढ़ मृदा के विस्तार वाले राज्यों के नाम लिखे ? तथा इन मृदा में कौन – कौन सी फासले उगाई जा सकती है

उत्तर – जलोढ़ मिटटी पुरे उत्तरभारत में फैली हुई है |

इसके गुजरात और राजस्थान के कुछ क्षेत्रो में जलोढ़ मिटटी पाई जाती है इस मिटटी में प्रायः धान,मक्का,गेहू,गन्ना,दलहन आदि की खेती की जाती है |

  1. सर्वोच्च कृषि से आप क्या समझते है ?

उत्तर – सर्वोच्च कृषि से अभिप्राय: सर्वोच्च कृषि द्वारा की जाने वाली कृषि से है इस प्रकार की कृषि प्राय: पहाड़ी क्षेत्र में की जाती है जहा अधिक वर्षा के कारण उपजाऊ मिटटी पानी में दह जाते है | अत: उपजाऊ मिटटी को पानी में बहने से रोकने के लिए सर्वोच्च कृषि की जाती है |

  1. पवन अपरदन वाले क्षेत्र में कृषि की कौन कौन सी पद्धती उपयोगी मानी जाती है ?

उत्तर – पवन अपरदन वाले क्षेत्र में वाटिका कृषि उपयोगी मणि जाती है इसमें फसलो के बिच घास की पत्तिया विकसित की जाती है जिसके कारण पवन के वेग द्वारा भी उपजाऊ मिटटी नही उड़ पति है |

  1. भारत के किन भागो में नदी डेल्टा का विकाश हुआ है ? यहाँ की मृदा की क्या विशेषता है ?

उत्तर- भारत के पूर्वी तट के अनेक क्षेत्रो में डेल्टा का विकाश हुआ है इसके अलावे पश्चिम बंगाल में गंगा के डेल्टा का विकाश हुआ है कृष्णा कावेरी महानदी और गोदावरी नदी द्वारा भी डेल्टा का निर्माण हुआ है

इस मृदा की सबसे बड़ी विशेषता यह है की इसमें जलोढ़ मिटटी पाई जाती है जो धान गेहू जुट और कपास के लिए काफू उपयोगी है

[11]. चावल की फसल के लिय उपयुक्त भौगोलिक दशाओं का उल्लेख करे उत्तर – चावल के फसल के लिय उपयुक्त भौगोलिक दशाए निम्न्लिखित प्रकार से होनी चाहिय

 

i. तापमान 25 °∁ से अधिक होनी चाहिय |

ii. 100 cm से अधिक वर्षा होनी चाहिय |

iii. सस्ते कुशल श्रमिक उपलब्ध हो |

iv.विस्तृत बाजार उपलब्ध हो |

v.यातायात के साधन विकसित हो |

vi. कृषि के आधुनिक यंत्र खाद बिज कीटनाशी का प्रयोग किया जाना चाहिय

 

[12]. सर्वोच्य रेखा से आप क्या समझते है ?

उत्तर – सर्वोच्य रेखा मापन के एक मानक विधि है | वस्तुत: किसी धरातल पर समुन्द्र तल से समान उचाई वाले स्थानों को मिलाने वाली काल्पनिक रेखा को सर्वोच्य रेखा कहते है

 

 

[13]. खनिज क्या है ?

उत्तर – वे पदार्थ जो पृथ्वी के तल से प्राप्त किए जाते है उसे खनिज कहते है | खनिज दो प्रकार के होते है  :-

i. धात्विक खनिज

ii. अधात्विक खनिज

 

[14].वनों के पर्यावरणीय महत्त्व बताये ?

उत्तर – वन एक अमूल्य उपहार है जिसके आँचल में मनुष्य सदियों से पलता आ रहा है | इसका महत्त्व निम्न्लिखित है :-

i. वन CO2 और O2 का संतुलन बनाये रखती है

ii. वन मिटटी अपरदन को रोकती है

ii. वन के पेड़ो की जड़ो से पानी रिसकर भूमि के निचे जाता है जिससे भूमिगत जल की आपूर्ति होती है

iii. वन जीवो का आशय स्थल है

 

[15]. बहुदेशीय परियोजना से आप क्या समझते है ?

उत्तर – वैसी नदी घटी परिजोजना जिसका निर्माण अनेक उदेश्य जैसे सिंचाई , पर्यटन , जल विधु उत्पादन , बढ़ नियंत्रण , मतस्य पालन पालन एवं नौकायन के उदेश्य से किया जाता है | उसे बहुदेशीय परियोजना कहते है भारत में कई नदी घटी परियोजना निम्न्लिखित है

i.भाखड़ा नांगल नदी घाटी परियोजना

ii. कोशी नदी घाटी परियोजना

iii. दामोदर नदी घाटी  परियोजना

iv. रिहंद परियोजना

v. नागार्जुन सागर परियोजना

[1]. मेजनी कौन था ?

उत्तर – मेजनी एक साहित्यकार बिचारो का योग्य सेना पति था | जिसने 1831 ई में यंग इटली नामक संस्था की स्थापना की जो आगे चलकर इटली के एकीकरण में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई

 

[2]. जर्मनी के एकीकरण में आस्ट्रिया की क्या भूमिका थी ?

उत्तर – 1806 ई में नेपोलियन बोनापार्ट ने जर्मन क्षेत्रो को जीतकर जर्मन राइन संघ का गठन किया | जिससे जर्मनी में एकीकरण के लिय राष्टवाद की भावना का उदय हुआ किंतु दक्षिण जर्मन का लोग इसका बिरोध कर रहे थे जिसे आस्ट्रिया और प्रशा ने मिलकर दबा दिया और कूटनीति के द्वारा विस्मार्क के नेतृत्व में जर्मनी का एकीकरण हो गया इस प्रकार जर्मनी के एकीकरण में आस्ट्रिया की भूमिका काफी महत्वपूर्ण थी

 

[3]. खुनी रविवार क्या है ?

उत्तर – 9 जनवरी 1905 ई को रूस की जनता एक प्राथना पत्र को लेकर जार के महल की ओर जा रहे थे जिस जार के सेनाओ ने उन्हें अपना विरोधी समझकर उनपर बर्बरता पूर्वक उनपर गोलिया बरसा  दी जिसमे हजारो मजदुर मरे गए और हजारो मजदुर घायल हुए यह घटना रविवार को हुआ था जिसे खुनी रविवार के नाम से जाना जाता है  

 

[4]. कार्ल मार्क्स के जीवन सिधान्तो को लिखे ?

उत्तर – कार्लमार्क्स का जन्म 1818 ई में जर्मन के राईन प्रान्त के मेघुआ शहर में हुआ था | उन्होंने रूस और मानटेसक्यू का गहरा अध्ययन किया था जिसके कारण वे रूस में राजनितिक और सामाजिक को सुधरने की ओर अग्रसर हुए उन्होंने 1868 ई में दस कपिटल नमक पुस्तक की रचना की जिसके प्रमुख सिधांत निम्नलिखित है

(1) द्वंदात्मक ( भौतिकवाद का सिधांत) 

(2) वर्ग विहीन (राज्य विहीन का सिधांत )

(3) वर्ग संघर्ष का सिधांत

(4) अतिरिक्त मूल्य का सिधांत

 

[5]. हिन्द चीन का क्या अर्थ है ?

उत्तर- वियतनाम कम्बोडिया और लाओस के संयुक्त रूप को हिन्द चीन कहा जाता है | क्योकि वियतनाम और लाओस पर चीन का अधिपत्य था और कम्बोडिया भारत के प्रभाव में था

 

[6]. लेनिन की नई आर्थिक निति क्या थी ?

उत्तर – रूस की अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिय 1921 ई में लेनिन ने नई आर्थिक निति अपनाई जिसके अनुसार लोगो को सिमित सम्पति रखने की छुट दी गई रेलवे तथा बैंकों का राष्ट्रीय करण कर लिया गया चर्च की सम्पति जब्त कर ली गई जिससे उधोगो में वस्तुओ के उत्पादन में काफी वृद्धि हुई जिससे रूस की स्थिति काफी मजबूत हो गई

 

[7]. जेनेवा समझौता कब और किसके बिच हुआ था?

उत्तर – जेनेवा समझौता 1954 ई में शम्य्वादी और अमेरिका के बिच हुआ था जिसके अनुसार वियतनाम को दो भागो में बात दिया गया उतरी वियतनाम जहा शम्य्वादियो की सरकार बनी दूसरा दक्षिण वियतनाम जहा अमेरिकी सरकार बनी

 

[8]. हो – ची – मिन्ह मार्ग क्या है ?

उत्तर – हो- ची- मिन्ह मार्ग एक प्रकार का भूल भुलैया है जो लाओस और कम्बोडिया से होते हुए दक्षिण वियतनाम तक जाता है | जिसमे अनेक प्रकार के कच्ची पक्की सड़के आकर मिलती है अमेरिका बार बार इसे नष्ट कर देता था किंतु वियतनामी तुरंत उसकी मरमत कर लेते थे | इस प्रकार अमेरिका को तीन तरफ़ा युध्य में फसकर वापस लौटना पड़ा

 

[9]. चंपारण सत्याग्रह का संक्षिप्त विवरण दे ?

उत्तर – चंपारण सत्याग्रह आन्दोलन नील उत्पादक किसानो की दैनीय स्थिति से सम्बंधित है | अंग्रेज किसान से जबरदस्ती  नील की खेती करवाते थे दूसरी ओर बगान मालिक ने लगान में काफी वृद्धि कर दिया जिससे किसान काफी परेशान थे | अतः गाँधी जी ने 1917 ई में चंपारण सत्याग्रह आन्दोलन की सुरुआत की जिससे व्रिटिश सरकार को झुकना पड़ा

[10]. राजनीतिक दलों के कार्य बतावे ?

उत्तर – राजनीतिक दलों के प्रमुख कार्य निम्न्लिखित है ?

i. चुनाव में भाग लेना

ii. बहुमत प्राप्त कर सत्ता का संचालन करना

iii. लोकमत का निर्माण करना

iv. लोक कल्याणकारी योजना बनाना और उसे कार्यान्वित करना

v. सरकार पर दबाव बनेर रखना

[11]. राजनितिक दल को लोकतंत्र को प्राण कहा जाता है क्यों

उत्तर – यह सनातन सत्य है की राजनितिक दल को लोकतंत्र का प्राण कहा जाता है क्योकि राजनीतिक दल ही चुनाव में अपना उमीदवार खड़ा करते है और बहुमत प्राप्त कर सत्ता का संचालन करते है और जिस दल को स्पस्ट बहुमत प्राप्त नही होता है वह विरोधी दल की भूमिका निभाता है | राजनीतिक दल ही जनता की समस्याओ को सरकार के समक्ष रखती है साथ ही जनता की मांग के लिय आन्दोलन का भी सहारा लेती है | राजनितिक दल लोक कल्याणकारी योजना बनती है और उसे कार्यान्वित करती है इस प्रकार राजनीतिक दल सरकार और जनता के बिच कड़ी का कम करती है

[12]. चिपको आन्दोलन क्या है ?

 उत्तर – चिपको आन्दोलन वन एवं सुरक्षा के उदेश्य से सुन्दर लाल बहुगुन्ना और चढ़ी प्रसाद यादव द्वारा चलाया गया आन्दोलन था इस आन्दोलन से जुड़े लोग पेड़ से चिपक जाते थे और पेड़ काटने वाले को मार  कर भगा देते थे

[13 ]. सविनय अवज्ञा आन्दोलन के क्या परिणाम हुए ?

उत्तर – सविनय अवज्ञा आन्दोलन गाँधी जी के नेतृत्व में 1930 ई में चलाया गया था जिसके निम्न्लिखित परिणाम हुए :-

i. इस आन्दोलन के परिणाम स्वरूप भारत के सभी वर्गों का राजनीतिकरण हुआ |

ii. इस आन्दोलन में पहली बार महिलाओ ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया |

iii. इस आन्दोलन ने श्रमिक और कृषक आन्दोलन को भी प्रभावित किया

iv. इस आन्दोलन के परिणाम स्वरूप पहली बार ब्रिटिस सरकार ने समानता के आधार पर कांग्रेस से बात की |

v. इस आन्दोलन के परिणाम स्वरूप ब्रिटिस सरकार ने 1935 ई में भारत शासन अधिनियम पारित किया गया |

[14]. औधोगीकरण से आप क्या समझते है ?

उत्तर – मशीनो के अविष्कार से जब वास्तु का उत्पादन बड़े पैमाने पर होने लगा उसे औधोगीकरण कहते है |

 [15]. रूस की क्रांति ने पुरे विश्व को प्रवाहित किया किन्ही  दो उदहारण द्वारा स्पस्ट करे ?

उत्तर – रूस की क्रांति ने पुरे विश्व को प्रवाहित किया निम्न उदहारण से यह बात स्पस्ट होती है ?

i. इस क्रांति के पश्च्यात श्रमिक अथवा सर्वहारा वर्ग की सत्ता रूस में स्थापित हो गई तथा उसने अन्य क्षेत्रो में भी आन्दोलन का प्रोत्साहन किया

ii.रुसी क्रांति के बाद विश्व विचारधारा के स्तर दो खेमो में विभाजित हो गया साम्यवादी विश्व एवं पूंजीवादी विश्व इसके बाद यूरोप भी दो भागो में विभाजित हो गया पूर्वी यूरोप और पश्चमी यूरोप

[16]. ग्रामीण जीवन तथा नागरिक जीवन के बिच किन्ही दो विभिन्ताओ का उल्लेख करे ?

उत्तर –  गाव और शहर के बिच काफी विभिन्ताए है | ग्रामीण जीवन में जहा सादगी और संतुस्टी  देखने को मिलती है वही नागरिक जीवन में ज्यादा चमक दमक बनावटी और भागदौड़ तथा अंतहीन आवश्यकताओ के प्रति ललक देखने को मिलती है | गाव की आबादी कम होती है और नगर की ज्यादा गाव में खेती और पशुपालन मुख्य आजीविका है | शहर में ब्यापार और उत्पादन मुक्य आजीविका है |  गाव में प्राकृतिक वातावरण स्वक्ष होता है | शहर में प्रदूषित शिक्षा यातायात स्वस्थ सुविधाए है शहर अधिक उन्नत अवस्था में होता है जबकि ग्रामीण क्षेत्रो में इन बुनियादी सुविधाए शिक्षा , स्वास्थ्य यातायात संचार आदि का आभाव रहता है | शहर व्यक्ति को संतुस्ट करने के लिय अंतहीन सम्भावनाये प्रदान करता है जबकि ग्रामीण क्षेत्रो में सिमित सम्भावनाये होती है शहरो में जहा भव्य अतालिकाए होती है वाही गावो में छोटे – छोटे तथा इतो के बने घर होते है

 

[17]. पाण्डुलिपि क्या है  ?

उत्तर – कागज एवं छापाखाना का ज्ञान होने के पूर्व भारत में लोग भोज पत्र ताड पत्र एवं हस्त निर्मित कागज पर हाथ से लिखते थे यह रचना पाण्डुलिपि कहलाई पाण्डुलिपि द्वारा हम अपने ज्ञान को सुरक्षित रख पाए और पीढ़ी दर पीढ़ी बढ़ते गए

 

[18]. भाषा निति क्या है ?

उत्तर – भाषा के चलते देश में किसी प्रकार के अड़चन या गलबा न होने देना भाषा निति कहलाती है | भारत में लगभग 114 भाषाए बोली जाती है | हमारी राष्ट्भाषा हिंदी है | संविधान के अनुसार सरकारी काम काज की भाषा में अंग्रेजी का प्रयोग के विरोध के बावजूद गैर हिंदी भाषा प्रदेशो के मांग के कारण अंग्रेजी का प्रयोग जारी है | तमिलनाडु में इस के लिय उग्र आन्दोलन हुआ इस विवाद को सरकार ने हिंदी या अंग्रेजी भाषा के प्रयोग को मान्यता देकर सुलझाया |

 

 [19]. जर्मनी के एकीकरण के बाधाये क्या थी ?

उत्तर – जर्मनी लगभग तीन सौ छोटे बड़े राज्यों में बटा हुआ था | जिनके सोच विचार भिन्न – भिन्न थे | वे जाती और धर्मिक रूप से भी एक नही थे जो जर्मनी के एकीकरण के प्रमुख बाधाये थी |

[20]. उपनिवेशवाद से आप क्या समझते है ? औधोगीकरण ने उपनिवेश को जन्म दिया कैसे ?

उत्तर – जब कोई शक्तिशाली देश अपने से कमजोर राष्ट पर अधिकार कर उसका शोषण करता है | उसे उपनिवेशवाद कहते है |

                 औधोगीकरण क्रांति के फलस्वरूप वास्तु के उत्पादन में काफी वृद्धि हुई जिसकी खपत के लिए बाजार की आवश्यकता हुई इन्ही आवश्यकताओ ने उपनिवेशवाद का जन्म हुआ |

. गुटेन वर्ग ने मुद्रण यंत्र का विकाश कैसे किया ?

उत्तर – गुटेन वर्ग ने सीसा , टिन , औए विस्मत के मिश्र धातु के द्वारा अक्षर तथा मुद्रण स्याही बनाया जिसके माध्यम से छपाई का कार्य होने लगा |

 एक्विजिसन से आप क्या समझते है ?

उत्तर – कैथोलिक चर्च के पादरियों ने समाचार पत्र पर प्रतिबन्ध लगाने के कई कार्य अपनाये जिसे एक्विजिसन कहा जाता है | समाचार पत्र चर्च के बुराइयों को दूर करने के लिय बौधिक महौल का निर्माण करने लगा जिसके कारण लोग धर्म सुधार के लिय आन्दोलन चलाने लगे अत: इससे क्रोध होकर कैथोलिक चर्च ने एक्विजिसन लगा दिया |

Social science vvi subjective question class 10th

. 1830 ई के जुलाई क्रांति का वर्णन करे ?

उत्तर – फ़्रांस में बुर्बो का शासन था | जिसके शासक चाल्स दसवा एक निरंकुश शाषक था जो फ़्रांस में राष्ट्रीयता की भावना और लोकतांत्रिक भावनाओ को कठोरता पूर्वक चलने का कम किया | उसने प्रतिक्रियावादी नेता पोलिगनेव को प्रधान मंत्री नियुक्त किया | जिसके विरुद्ध घोर असंतोष फ़ैल गया चाल्स दसवा ने व्दार्वदियो के विरुद्ध 18 जुलाई 1830 ई को फ़्रांस में युद्ध की सुरुआत हो गई , और चाल्स दसवा गड्डी छोड़कर इंग्लैण्ड भाग गया इस प्रकार फ़्रांस में इस प्रकार फ़्रांस में बुर्बो वंश का अंत हो गया इस क्रांति को फ़्रांस के इतिहास में जुलाई क्रांति के नाम से जाना जाता है |

यूनानी स्वतन्त्र संग्राम का वर्णन करे ?

उत्तर – फ़्रांसिसी क्रांति से प्रभावित होकर यूनानियो में भी राष्ट्रीयता की भावना का उदय हुआ | यूनान तुर्की के अंगो के रूप में माना जाता है | अतः तुर्की ने यूनानी आन्दोलन को दबाना सुरु कर दिया , रूस यूनान के पक्ष में था किंतु आस्ट्रिया उसका विरोधी था पुरे यूरोप में यूनानी का जबरदस्त समर्थन मिला जिससे तुर्की और यूनानियो में जबरदस्त युध्य हुआ जिसमे तुर्की बुरी तरह हर गया और 1832 ई में यूनान को एक स्वतन्त्र राष्ट के रूप में माना गया |

जर्मनी के एकीकरण में आस्ट्रिया की क्या भूमिका थी

उत्तर – 1806 ई में नेपोलियन बोनापार्ट ने जर्मन क्षेत्रो को जीतकर जर्मन राइन राज्य संघ का गठन किया | जिससे जर्मनी में एकीकरण के लिय राष्ट्रवाद की भावना का उदय हुआ किंतु दक्षिण जर्मन प्रान्त के लोग इसका विरोध कर रहे थे जिसे आस्ट्रिया और प्रशा ने मिलकर दबा दिया और कूटनीति के द्वारा विस्मार्क के नेतृत्व में जर्मनी का पूर्ण एकीकरण हो गया | इस प्रकार जर्मनी के एकीकरण में आस्ट्रिया की भूमिका काफी महत्वपूर्ण थी |

राष्ट्रवाद के कारण एवं प्रभावों को लिखे ?

उत्तर – कारण – राष्ट्रवाद के उदय में फ़्रांसिसी क्रांति की भूमिका काफी महत्वपूर्ण मणि गई है इसके अतिरिक्त नेपोलियन बोनापार्ट के अकर्मण निति और अवधोगिक क्रांति को भी राष्ट्रवाद के उदय का कारण माना जाता है

प्रभाव – राष्ट्रवाद के कारण ही छोटे बड़े नए राज्यों का उदय हुआ और वैसे राष्ट्र जो  दुसरे देशो के उपनिवेश थे, वह स्वतन्त्र होनर के लिय आन्दोलन सुरु कर दिए दूसरी ओर अतिराष्ट्र के कारण यूरोपियन देश अन्य देशो को अपना औपनिवेश बनाने लगे |

इटली के एकीकरण में मेजनी ,काबूर और गैरिवाल्ड़ी के योगदानो का वर्णन करे ?

उत्तर- मेजनी – मेजनी एक योग्य सेनापति था जिसने 1831 ई में यंग इटली नमक संस्था की स्थापना की और इटली में एकीकरण के लिय जनवादी आन्दोलन को उभारा किंतु आस्ट्रिया ने उसे कुचल दिया किंतु इस आन्दोलन ने इटली के एकीकरण का मार्ग प्रस्तुत किया |

काबूर – काबूर एक कुतनितीग्य एवं राष्ट्रवादी था , जिसे विक्टर एमेनुएल ने इटली का प्रधानमंत्री नियुक्त किया था | काबूर यह जनता था की आस्ट्रिया इटली के एकीकरण का प्रमुख बाधक है अतः उसने क्रीमिया युध्य में फ़्रांस का साथ दिया जिसमे आस्ट्रिया पूरी तरह पराजित हो गया और उसने इटली के एकीकरण के यूरोप के समस्या बनाने में सफल हुआ

गैरिवाल्ड़ी – गैरिवाल्दी एक महान क्रन्तिकारी था जो पेशे से एक नाविक था जिसने सिसली और नेपुल्स को जीतकर विक्टर एमेनुवेल को सौप दिया जिसके फलस्वरूप 1871 ई में इटली का पुर एकीकरण हो गया |

राष्ट्रवाद क्या है ?

उत्तर – राष्ट्रवाद एक ऐसी भावना है जो किसी विशेष संस्कृति और सामाजिक परिवेश में रहने वाले लोगो में एकता की भावना पैदा करती है ,यह भावना राजनीति जागृति का प्रतिफल है |

1848 ई के फ़्रांसिसी क्रांति के क्या कारण थे ?

उत्तर – जुलाई 1830 ई के क्रांति के बाद फ़्रांस में लुइ फ्लिप के नेतृत्व में फ़्रांस का गठन हुआ जिसमे लोगो को काफी आशा थी किंतु लुइ फ्लिप महत्वकांक्षी था जो गीजो को अपना प्रधान मंत्री नियुक्त किया जो कट्टर प्रतिक्रिया वादी ता देश में बेरोजगारी और भुखमरी चरम सीमा पर पहुच गई थी किंतु सरकार उनकी स्थितियों को सुधरने के पक्ष में नही था फलतः 22 फरवरी 1848 ई में थियर्स के नेतृत्व में सरकार का काफी विरोध हुआ जिससे लुइ फ्लिप को गद्दी छोडना पड़ा और नेपोलियन बोनापार्ट फ़्रांस का शासक बना फ़्रांस के इतिहास में इस क्रांति को फरवरी क्रांति के नाम से जाना जाता है |

 

 

 

 

 

 

1 thought on “social science vvi subjective question 2021

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *